Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja l Mata-Laxmi l

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja l Mata-Laxmi l Full Lyrics

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja – Laxmi Ji Ki Aarti: Om Jai Laxmi Mata, मां लक्ष्मीजी की आरती, Maha Lakshmi Ji Ki Aarti | Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja: लक्ष्मी माता की आरती, ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता – BhajanGeet

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja l Mata-Laxmi l

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja - BhajanGeet
Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja – BhajanGeet

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Sadhna Sargam Mp3 Hindi Song Download – BhajanGeet

Get This Song

Download in 48 kbps
(3.05 MB)

Download in 128 kbps (6.09 MB)

Next Track (Om Bhur Bhuvasah (Gayatri Mantra))

Download Ringtone

 

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja

“ओम जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता।तुमको निशिदिन सेवत, हरि विष्णु विधाता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥उमा, रमा, ब्रह्माणी, तुम ही जग-माता।सूर्य-चंद्रमा ध्यावत, नारद ऋषि गाता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता।कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता।सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥शुभ-गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि-जाता।रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥महालक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता।उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता॥ओम जय लक्ष्मी माता॥सब बोलो लक्ष्मी माता की जय, लक्ष्मी नारायण की जय।आरती पूरी होने के बाद तुलसी में आरती जरूर दिखाना चाहिए, इसके बाद घर के लोगों को आरती लेनी चाहिए।”

“hindi laxmi aarti,laxmi aarti,laxmi aarti in hindi,laxmi mata aarti,maa laxmi aarti,onine maa laxmi aarti,ओम जय लक्ष्मी माता,जय मां लक्ष्मी,लक्ष्मी माता आरती”

Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja Full Lyrics

दुर्गा रुप निरंजनी, सुख सम्पत्ति दाता।
जो कोई तुमको ध्यावत, ऋद्धि-सिद्धि धन पाता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम पाताल-निवासिनि, तुम ही शुभदाता।
कर्म-प्रभाव-प्रकाशिनी, भवनिधि की त्राता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

जिस घर में तुम रहतीं, सब सद्गुण आता।
सब सम्भव हो जाता, मन नहीं घबराता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

तुम बिन यज्ञ न होते, वस्त्र न कोई पाता।
खान-पान का वैभव, सब तुमसे आता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

शुभ-गुण मंदिर सुंदर, क्षीरोदधि-जाता।
रत्न चतुर्दश तुम बिन, कोई नहीं पाता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

महालक्ष्मीजी की आरती, जो कोई जन गाता।
उर आनन्द समाता, पाप उतर जाता॥
ओम जय लक्ष्मी माता॥

सब बोलो लक्ष्मी माता की जय, लक्ष्मी नारायण की जय।

आरती पूरी होने के बाद तुलसी में आरती जरूर दिखाना चाहिए, इसके बाद घर के लोगों को आरती लेनी चाहिए।

 

2 thoughts on “Maha Laxmi Maa Diwali Aarti Puja l Mata-Laxmi l”

Leave a Comment